COURSE CODE 509 ASSIGNMENT 2 QUESTION 2 WITH ANSWER IN HINDI.


NIOS DELED COURSE CODE 509 ASSIGNMENT 2 QUESTION 2 WITH ANSWER IN HINDI. UNIQUE ANSWER OF NIOS ASSIGNMENT 509 IN 500 WORDS.

COURSE CODE 509 ASSIGNMENT 2 QUESTION 2 WITH ANSWER IN HINDI.

Q. 2. अपनी कक्षा को शिक्षार्थी केन्द्रित बनाने के लिए कुछ (कम से कम पाँच) गतिविधियाँ तैयार कीजिए l 
Prepare some activities (at least 5) to teach Social Science to make your class learner centered.

COURSE CODE 509 ASSIGNMENT 2 QUESTION 2 WITH ANSWER IN HINDI.
यदि आप PDF DOWNLOAD करना चाहते हैं तो यहाँ से करें - 
ANS. सभी बच्चे स्वाभाविक रूप से सीखने को प्रेरित होते हैं और अधिगम में सक्षम हैं तथा यह विद्यालय के बाहर और भीतर दोनों जगह होता है l यद्दपि बच्चे व्यक्तिगत और समूह में भिन्न तरीकों से सीखते हैं l NCF 2005 कहता है कि बच्चों को चीजों को बनाने और करने, अनुभव करने, प्रयोगीकरण, पढ़ने, विचार-विमर्श, सुनने, सोचने, प्रदर्शित करने और स्वयं को वाणी, गति और लेखन में व्यक्त करके सीखने के अवसरों की अपेक्षा है l यहाँ तक कि नयी शिक्षा निति 1986, ‘बच्चा केन्द्रित एवं गतिविधि आधारित अधिगम की प्रक्रिया’ की वकालत करती है l इसलिए हम अपनी कक्षा को शिक्षार्थी केन्द्रित बनाने के लिए निम्नलिखित गतिविधियाँ तैयार करेंगे l

1. खेल कूद विधि से शिक्षण – हम सभी चाहे किसी भी आयु के हो खेल का आनंद लेते हैं, परन्तु एक बच्चे का कार्य खेल जगत से भरा होता है l सभी बच्चे खेलना पसंद करते हैं, खेल बच्चों का नैसर्गिक स्वाभाव है l यह उनकी आवश्यकताओं की प्राकृतिक अभिव्यक्ति है l यह एक बच्चे के शारीरिक, संज्ञानात्मक सामाजिक और भावनात्मक वृद्धि का विकास करता है l
उदहारण – खेल विधि से संबंधित गतिविधि के लिए कक्षा में चित्र कार्ड का उपयोग किया जा सकता है l जैसे कि यदि शिक्षार्थियों को सजीव और निर्जीव को पहचानने के लिए कुछ सजीवों और निर्जीवों के चित्र दिए जाए और उन्हें समूहों में बाँटकर प्रत्येक शिक्षार्थी को उन्हें छांटने के लिए कहे तो शिक्षार्थी आनंदपूर्वक इस गतिविधि को करेंगे l प्रत्येक समूह को सही पहचान के लिए अंक देंगे और जो समूह सबसे अधिक अंक प्राप्त करेंगे उसे विजेता घोषित किया जायेगा l इस प्रकार इस खेल गतिविधि से शिक्षार्थी सजीव और निर्जीव में अंतर करना भी सीखेंगे l
2. प्रोजेक्ट विधि – परियोजना कार्य एक गतिविधि आधारित विधि है जो शिक्षार्थियों को वास्तविक जीवन के अनुभवों को प्रदान करता है l यह एक समस्यात्मक कार्य है जो प्राकृतिक व्यवस्था में होता है l यह हमेशा जीवन से संबध अधिगम के सिद्धांतों पर आधारित होता है तथा जितना संभव है विद्यालय के सभी विषयों से जोड़ता है l यह विद्यार्थियों के सम्मान को श्रम के साथ और जीवन के प्रजातान्त्रिक तरीके से बनाये रखने के लिए अवसर प्रदान करता है l
गतिविधि – कृषि से संबंधित कार्य को प्रोजेक्ट गतिविधि के रूप में विद्यार्थियों को दिया जा सकता है l कक्षा के विद्यार्थियों को छोटे समूहों में बांटकर उन्हें खाद्य फसलें और नगदी फसलों के नमूना संग्रह करने, सूचना एकत्रित करने, चार्ट व नक्शा तैयार करने, इन्टरनेट से तस्वीर डाउनलोड करने या संग्रह करने, विवरण तैयार करने और विचार-विमर्श कर प्रस्तुतिकरण से संबंधित कार्य देंगे तथा उनका मूल्यांकन करेंगे l इस गतिविधि से शिक्षार्थी भारतीय कृषि या वैश्विक कृषि से संबंधित विस्तृत ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं l

3. समस्या समाधान – समस्या समाधान एक निर्देशात्मक रणनीति है जो संकल्पनात्मक समझ और स्थानांतरण की योग्यता को विकसित करने तथा उन समझों को नयी परिस्थितियों में लागु करने में प्रयुक्त होती है l जब विद्यार्थियों को इस विधि से पढ़ाया जाता है तो वे तार्किक रूप से सोचने एवं चिंतन कौशलों को विकसित करने के अवसर पाते हैं l चिंतन एक आधारभूत कौशल है जो समस्या समाधान में अपेक्षित है जिससे विद्यार्थी अपने अनुभवों की समझ बनाते हैं l चिंतन कौशल व समस्या समाधान दोनों विद्यार्थियों को समस्यात्मक परिस्थितियाँ देकर पढ़ाई जा सकती है और इन समस्याओं को हल करने के अवसरों को देकर पढाई जा सकती है l
उदहारण – ‘भारत में किसानों की मानसून पर निर्भरता’ यह समस्या शिक्षार्थी को देंगे l शिक्षार्थी कक्षा में इस पर चिंतन करेंगे, विचार-विमर्श करेंगे तथा समस्या का समाधान भी सुझायेंगे l
4. प्रयोगात्मक अधिगम – प्रयोगात्मक अधिगम एक शिक्षार्थी केन्द्रित अधिगम है जो वास्तविक जीवन परिस्थितियों से जुड़े अधिगम के लिए मैदानी कार्य को स्वीकृति देती है l यह प्रत्यक्ष अनुभव से अर्थ बनाने की प्रक्रिया है l यह व्यक्ति के लिए अधिगम प्रक्रिया पर केन्द्रित करता है l प्रयोगात्मक अधिगम के तहत गतिविधि के लिए सबसे अच्छा उदहारण है चिड़ियाघर जाना l
इस गतिविधि में शिक्षार्थी चिड़ियाघर जायेंगे और जिन जीवों को वे किताबों में चित्र में देखते थे उन्हें वे प्रत्यक्ष देखेंगे और अवलोकन के माध्यम से सीखेंगे l चिड़ियाघर के वातावरण से अन्तः क्रिया करेंगे और एक पुस्तक में जानवरों के बारे में पढ़े हुए को सम्मुख रखेंगे l और इस प्रकार वे अधिक प्रभावी ज्ञान प्राप्त करेंगे l
 5. विचार-विमर्श विधि – यह विधि अधिगम प्रक्रिया में प्रत्येक विद्यार्थी को उनके विचारों को व्यक्त करने की स्वीकृति देता है l यह सामूहिक निर्णय बनाने की एक क्रमिक प्रक्रिया है, जो प्रजातान्त्रिक मूल्यों को उपजाने में सहायक है l यह समझौता चाहता है किन्तु यदि यह नहीं पाया जाता है तो इसमें स्पष्टीकरण और समझौते की प्रकृति को तीव्र करने का मूल्य है l
इस विधि से शिक्षण में जो गतिविधि तैयार करेंगे उसमें कक्षा के सभी विद्यार्थियों को शामिल करेंगे l फिर बोर्ड पर विद्यार्थियों के रूचि के विषय को लिस्ट करेंगे l जैसे- लैंगिक भेदभाव, कचरा निस्तारण, वृक्षों को काटना, पानी की कमी आदि l इनमें से किसी एक को चुनकर उनपर विचार-विमर्श करने को कहेंगे l विचारोपरान्त निकलने वाले मुख्य बिन्दुओं को चुनकर बोर्ड पर लिखेंगे l किसी को बिना हतोत्साहित किये सभी विद्यार्थियों को बोलने की स्वीकृति देंगे l इस प्रकार विचार-विमर्श के आयोजन से किसी भी विषय पर विद्यार्थियों के वाक कौशल, तर्क कौशल और नेतृत्व कौशल का विकास संभव हो पायेगा l
इस प्रकार हम अपने कक्षा में शिक्षार्थी केन्द्रित अधिगम के लिए गतिविधियाँ तैयार करेंगे l

अगर आपको यह पोस्ट 'COURSE CODE 509 ASSIGNMENT 2 QUESTION 2 WITH ANSWER IN HINDI' अच्छा लगा हो तो इसे अन्य दोस्तों के साथ भी शेयर करें l आप अपने विचार हमें कमेंट बॉक्स में लिखें l 
RELATED POST - 508 ASSIGNMENT 3 QUESTION 2 ANSWER 
यदि आप PDF DOWNLOAD करना चाहते हैं तो यहाँ से करें - 

Share This Article

Add Comments


EmoticonEmoticon