511.2.2 Anecdotal Record based on specific observation

SBA – School Based Activities यानि विद्यालय आधारित गतिवधियों के अंतर्गत यह 511.2.2 Anecdotal Record (based on specific observation) भी आपको तैयार करना है l इसे हिंदी में उपाख्यानात्मक अभिलेख भी कहते हैं l आप इसे समझ सकें और आसानी से इसे तैयार कर सकें इसलिए इस लेख में हम कवर करेंगे – What is anecdotal record ? 511.2.2 Anecdotal record based on specific observation, Anecdotal records of students and anecdotal record in hindi. आप नीचे दिए रिकार्ड्स को पढ़ें, समझें और उसी हिसाब से SBA का anecdotal record तैयार करें l

511.2.2 Anecdotal Record (based on specific observation)

anecdotal record

प्रशिक्षु अध्यापक का नाम :- .....................................................................
नामांकन संख्या (Enroll. No.) :-................................................................
अध्ययन केंद्र का नाम :-............................................................................
अध्ययन केंद्र का पता :-............................................................................
विद्यालय का नाम :-...............................................................................
विद्यालय का पता :-................................................................................

उद्देश्य :- किसी भी विद्यालय में अभिलेखों का बड़ा महत्त्व होता है l विद्यालय संचालन में इन अभिलेखों से बहुत मदद मिलती है l विद्यार्थी छात्र का संबंध हो या शिक्षक अभिभावक का, विद्यालय का पर्यवेक्षण या निरीक्षण में, विद्यालय के शैक्षणिक कार्यक्रमों के मूल्यांकन में या विद्यालय के विकास में अभिलेखों से काफी सहायता मिलती है l इसी कड़ी में विद्यालय क्रिया-कलाप में उपाख्यानात्मक अभिलेख (anecdotal record ) का स्थान काफी महत्वपूर्ण है l इसकी सहायता से हमें कई महत्वपूर्ण जानकारियाँ प्राप्त होती है l
महत्त्व :- विद्यालय में शैक्षणिक वातावरण को सुदृढ़ करने, बच्चों में सृजनात्मकता का विकास करने, बच्चों में शैक्षणिक क्षमता, लेखन क्षमता एवं वाचन क्षमता का विकास उपाख्यानात्मक अभिलेख (anecdotal record ) करता है l
क्रिया-कलाप :- विद्यालय स्थापना दिवस के अवसर पर बच्चों को कुछ विशेष करने के लिए अवसर उपलब्ध कराया गया l उन्हें इस अवसर पर “समाज में शिक्षा की भूमिका और स्वच्छता” विषय पर उपाख्यान देने को कहा गया l बच्चे इस विषय पर अपनी-अपनी राय व जानकारियाँ दे रहे थे l स्कूल के प्रधानाध्यापक, मेंटर, अभिभावकों के साथ हम सभी ने देखा कि बच्चे किस तरह अपनी सृजन शक्ति का उपयोग किया l उनमें सृजनशीलता का विकास होते हुए हम देख पा रहे थे l चूँकि बच्चों के आपसी विचार किसी विषय पर अलग-अलग होता है और सम्मिलित रूप से वे विचार पूर्ण ज्ञान में बदल जाता है l और, यह सभी प्रक्रिया बच्चे के आपसी बातचीत से ही होता है तो इससे उनके अधिगम स्तर में भी वृद्धि होता है l
अनुभव :- उपाख्यानात्मक अभिलेख (anecdotal record ) बच्चों में सृजनशीलता बढ़ाने के लिए उपयुक्त साधन हैं l इसके संचालन से बच्चों में आत्मविश्वास में वृद्धि होता है और बच्चे किसी भी अवसर पर किसी भी विषय पर अपना विचार प्रस्तुत कर सकते हैं l

मेंटर के हस्ताक्षर                                                                               पर्यवेक्षक के हस्ताक्षर

"511.2.2 Anecdotal Record based on specific observation" के अंतर्गत आप इसी तरीके से अभिलेख तैयार कर सकते हैं l
अन्य SBA से संबंधित लेख आप यहाँ से पढ़ें - 
आपको यह लेख अच्छा लगे तो शेयर कीजिये साथ ही कमेंट भी करें l धन्यवाद l 

Share This Article

Add Comments


EmoticonEmoticon