NIOS D.EL.ED. ASSIGNMENT- 501 ASSIGNMENT / सत्रीय कार्य - ll (दूसरा प्रश्न और उत्तर ) NIOS D.EL.ED. EXAM SERIES

Q. शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 लागू करने में आनेवाली... 

NIOS D.EL.ED. ASSIGNMENT- 501 ASSIGNMENT / सत्रीय कार्य - ll (दूसरा प्रश्न और उत्तर ) NIOS D.EL.ED. EXAM SERIES


ANS. 26 अगस्त 2009 को भारतीय संसद ने शिक्षा के संबंध में एक ऐतिहासिक अधिनियम पारित किया जिसे “शिक्षा का अधिकार अधिनियम, 2009” कहा जाता है l इस अधिनियम के तहत शिक्षा में बेहतरी के लिए कई महत्वपूर्ण प्रावधान किये गए l उन प्रावधानों में से कुछ मुख्य प्रावधान निम्नलिखित है l

RTE 2009 के मुख्य प्रावधान

1. 6 से 14 वर्ष की आयु वाले बच्चे को निःशुल्क तथा अनिवार्य शिक्षा प्रदान करना केंद्र तथा राज्य सरकारों की जिम्मेवारी होगी l
2. हरेक आवासीय क्षेत्र के 1 किलोमीटर के दायरे में प्राथमिक विद्यालय तथा 3 किलोमीटर के दायरे में उच्च प्राथमिक विद्यालय होगा ताकि बच्चों को शिक्षा प्राप्ति के लिए घर से बहुत दूर न जाना पड़े l
3. प्रारंभिक शिक्षा यानि कक्षा 8 तक की पढाई पूरी होने तक किसी भी बच्चे को किसी भी वर्ग में असफल घोषित नहीं किया जायेगा l
4. किसी भी बालक या बालिका को उनके उम्र के सापेक्ष वर्ग में प्रवेश प्रदान करने से कोई भी विद्यालय इंकार नहीं करेगा l
5. हम किसी भी बच्चे को शारीरिक दंड या मानसिक प्रताड़ना नहीं दे सकते l
इसके अलावे भी और कई प्रावधान किये गए हैं , लेकिन यही वो प्रावधान हैं जिसे लागु करने में कई तरह की कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है l कुछ मुख्य दिक्कतें निम्नलिखित हैं l

RTE 2009 के प्रावधानों की बाधाएँ

1. RTE 2009 का यह प्रावधान कि बच्चों के घर के नजदीक ही प्रारंभिक विद्यालय की स्थापना की जाएगी सही है लेकिन अभी भी उच्च प्राथमिक विद्यालयों की स्थापना पर्याप्त नहीं है l 1-5 तक का विद्यालय तो लगभग हर 1 किलोमीटर के दायरे में हो चुका है लेकिन 6-8 कक्षा के विद्यालय के लिए अभी भी बच्चों को 5-10 किलोमीटर जाना पड़ता है जो दुखद है l
2. RTE 2009 का यह प्रावधान कि कक्षा 8 तक किसी भी बच्चे को फेल नहीं किया जायेगा , इसका बहुत ही नकारात्मक परिणाम देखने को मिल रहा है l बच्चे के मन से परीक्षा का भय बिल्कुल ख़त्म हो चुका है l इसलिए वे पढाई में ध्यान नहीं लगाते और पिछड़ते चले जाते हैं l ग्रामीण क्षेत्रों में तो स्थिति और भी ख़राब है l यहाँ तो लोग यूँ हीं शिक्षा के प्रति उदासीन हैं और परीक्षा नहीं होने तथा असफल घोषित नहीं होने से तो यह उदासीनता और बढ़ गई है l
3. RTE 2009 का यह प्रावधान कि किसी भी बच्चे को उनकी उम्र के सापेक्ष वर्ग में प्रवेश दिया जायेगा , इस आलोक में यह देखने को मिल रहा है कि एक बच्चा जिसका उम्र 11 वर्ष है उसकी उम्र के सापेक्ष 5 वीं कक्षा में प्रवेश दे दिया जाता है l अब यह बच्चा कभी पढाई नहीं किया है तो यह उस कक्षा के पाठ्यक्रम की अवधारणाओं को कभी समझ ही नहीं पाता है l वह अपने वर्ग में लगातार पिछड़ता चला जाता है l हालाँकि उनके लिए अनुपूरक कक्षा की व्यवस्था है लेकिन यह उनके लिए नाकाफी सिद्ध होता है l जरा सोचिये कि 1-2 घंटे की विशेष कक्षा कर वह 5 साल की पढाई कैसे पूरा कर सकता है l वैसे भी स्कूलों में शिक्षकों की कमी है l इस कारण वह नियमित पाठ्यक्रम को पूरा करने में भी कठिनाई महसूस करते हैं , फिर विशेष कक्षा के नाम पर तो RTE का यह प्रावधान फिसड्डी साबित हो रहा है l

RTE 2009 के बेहतर तरीके से लागू किये जाने हेतु सुझाव

1. 6 से 14 वर्ष तक के बच्चों को शिक्षा देना कानूनन बाध्य है l इसका उलंघन करने वाले अभिभावकों पर उचित क़ानूनी कारवाई की जाए l
2. हमें स्थानीय अधिकारियों से मिलकर प्रत्येक 3 किलोमीटर के अन्दर उच्च प्राथमिक विद्यालय की स्थापना के लिए पहल करना चाहिए और उन अधिकारियों के जरिये सरकार तक बातों को पहुंचानी चाहिए l
3. बच्चों को उम्र के सापेक्ष वर्ग में नामांकन करना हमारी मज़बूरी है , इसमें हम कुछ नहीं कर सकते हैं l हाँ इतना जरुर कर सकते हैं कि उनके लिए नियमित रूप से विशेष कक्षा का आयोजन कर उन्हें उस वर्ग के समकक्ष लाया जाए l हमें अभियान चलाकर गाँव में घूम-घूम कर अभिभावकों को जागरूक करना चाहिए तथा स्कूलों में बच्चों के शत प्रतिशत नामांकन के लिए विशेष अभियान चलाया जाना चाहिए l ऐसा कर हम 1-2 सालों में इस स्थिति से पूरी तरह छुटकारा पा सकते हैं l
4. विद्यालय में हर माह टेस्ट लेने की व्यवस्था करें l जो बच्चे पढाई में रूचि नहीं लेते उन्हें चिन्हित कर शिक्षक- अभिभावक गोष्ठी में रखें तथा मिलजुल कर इस समस्या का निदान करें l

अगर इन सभी सुझावों पर अमल किया जाए तो “शिक्षा का अधिकार अधिनियम, 2009” के प्रावधानों का सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगे l



NOTE:- NIOS D. EL. ED. से संबंधित विडियो देखने के लिए हमारा YOUTUBE चैनल - http://www.youtube.com/c/TECHCK को SUBSCRIBE करें

Share This Article

Add Comments


EmoticonEmoticon