Short Story in Hindi - बुद्दिमान संत

Chandan 9:22 pm
एक बार एक बाबा (संत) थे जिनका काम गाँव - देहातों का भ्रमण करना तथा लोगों को उपदेश देना था l इसी क्रम में एक दिन वे किसी गाँव के बगल से गुजर रहे थे कि इतने में उन्हें एक महिला की आवाज सुनाई दी जो उनसे रुकने के लिए कह रही थी l

"मेरी मदद करो , बाबा !"- महिला ने विनती की l "मेरा बच्चा कई दिनों से बीमार है , कृप्या उसे देख लो l"

महिला के विनती करने पर बाबा ने गाँव के अन्दर जाकर उस बीमार बच्चे को पास लाने को कहा l तब तक गाँव के लोगों की भीड़ उनके चारों तरफ जमा हो गई , क्योंकि उनके लिए यह एक दुर्लभ नजारा था l बीमार बच्चा के पास आते ही बाबा ने उसके लिए प्रार्थना करनी शुरू की l

"क्या आपको सच में लगता है कि आपकी प्रार्थना उसकी मदद करेगी , जब सारा दवा नाकाम रही है l"- भीड़ में से एक आदमी चिल्लाया l

"तुम्हें इन सब चीजों के बारे में पता नहीं है ! तुम निहायत ही एक बेवक़ूफ़ हो !"- संत ने उस आदमी से कहा l

वह आदमी इन शब्दों से क्रोधित हो उठा l उसका चेहरा गुस्सा से गर्म और लाल हो गया l वह बौखलाहट के साथ कुछ कहने के मूड में आया ही था कि संत ने कहा - "जब एक शब्द में इतनी ताकत है कि वह तुम्हें बहुत क्रोधित और गर्म सकता है तो एक प्रार्थना में चंगा करने की शक्ति क्योँ नहीं ?"

और इस प्रकार , संत ने उस दिन दो लोगों को चंगा किया l


निवेदन-अगर आपको यह short story in hindi पसंद आया हो तो निचे दिए social button द्वारा अपने दोस्तों के साथ share जरूर करें l 

Share This Article

Add Comments


EmoticonEmoticon