नाखुश लोगों के जिंदगी की 7 सामान्य आदतें

common habits of unhappy people

सुखी जीवन जीने के लिए बहुत कम की जरूरत है ,यह सब आपके भीतर है , आपके सोचने के तरीके में l  
                                                - Marcus Aurelius

हमें उन लोगों का आभारी होना चाहिए जो हमें खुश करते हैं l वे आकर्षक माली हैं , जो हमारी आत्मा को फूल की तरह खिलाते हैं l
                                                  -  Marcel Proust

हालात किसी भी व्यक्ति के जीवन को नाखुश (unhappy) कर सकता है , लेकिन यह नाखुशी और दुःख के लिए कुछ हद तक ही जिम्मेदार है l सच तो ये है कि दुःख का सबसे बड़ा कारण तो हम स्वयं हैं l यह तो हमारे अन्दर के विचारों , व्यवहारों और आदतों की उपज है l

इस article के जरिये हम unhappy life के लिए 7 सामान्य आदतों के बारे में बताने जा रहे है जो किसी के छोटी , हँसी - ख़ुशी दुनिया को नाखुशी (unhappy) में बदल देता  है l

1. पूर्णता के लिए लक्ष्य ( Aiming for perfection)
क्या life में खुश रहने के लिए हर चीज का perfect होना जरूरी है ?

अगर आपका जवाब yes है तो फिर ख़ुशी खोजना आपके लिए थोड़ा मुश्किल है l अमानवीय स्तर तक अपने काम के लिए performance bar स्थापित करना आपके आत्मसम्मान के level को गिराता है , जबकि कई बार आप अपने काम में अच्छे होते हैं या बहुत अच्छे भी होते हैं l 100% perfect के चक्कर में कोई काम कभी पूरा नहीं होगा l इसलिए 100%  perfect की बजाय excellent results के लिए काम किया जाए l अर्थात पूर्णता के बजाय पर्याप्त के लिए काम किया जाए l समय निर्धारण के साथ - साथ यह भी ख्याल रखा जाए कि हम अपनी ख़ुशी दाँव पर तो नहीं लगा रहे हैं ?

आप बहुत सारे motivational किताबें पढ़ते होंगे , motivational movie देखते होंगे या songs सुनते होंगे जो आपके सपने जगाते हैं और यह बताते हैं कि perfection को पाना कितना आसान है l लेकिन ये वास्तविक जीवन में हकीकत के साथ टकराव पैदा करते हैं और आपके भीतर और आपके आस-पास के लोगों में बहुत दुःख और तनाव पैदा करते हैं l यह आपके लिए हानिकारक हो सकता है और संभवतः आपके relationships, jobs या projects का अंत भी कर सकता है l और यह सब आपके perfectionist होने की चाहत के वजह से l इसलिए इस  simple से fact को याद रखा जाए l

2. नकारात्मक आवाजों के समुद्र में रहना (Living in a sea of negative voices)
मनुष्य एक समाजिक प्राणी है l कोई भी व्यक्ति अकेला नहीं रह सकता l हम किन लोगों के साथ रहते है , हम क्या पढ़ते हैं , क्या देखते हैं , क्या सुनते हैं , इन सारी चीजों का हमारे विचारों और भावनाओं पर गहरा असर होता है l

अगर आप negative voices की तरफ खींचे चले जाते है तो आपका खुश रहना बहुत ही मुश्किल है l आवाजें जो जिंदगी को negative नजरिये से देखती है , आपके अन्दर  दुःख  और डर को जगह देती है और आपके संभावनाओं को कम करती है l बहुत सारी किताबें , newspapers, movies आदि negative voices से भरे होते है l अतः इनसे दूर रहकर ही खुश रहा जा सकता है l

3. अतीत और भविष्य के बीच फँसा रहना ( Getting stuck in the past and future too much)
अपने अतीत में बहुत ज्यादा समय बिताना , दुखद घटनाओं को याद करना , संघर्ष और चुके हुए अवसरों को याद कर व्यथित होना ये सभी एक happy life का part तो कभी नहीं हो सकता l

उसी तरह भविष्य के बारे में अधिक सोचना और कल्पना करना कि कोई चीज कैसे गलत जा सकता है , जैसे कि  आपका work , relationship , health . ऐसी भयानक कल्पना किसी दुःस्वप्न परिदृश्यों की तरह आपके दिमाग में बार - बार hit करेगा l यह बिलकुल भी सही नहीं है यदि आप happier life जीना चाहते हैं l

4.स्वयं की तुलना दूसरे की जिंदगी से करना (Comparing yourself and your life to others and their lives)
बहुत ही common और घातक daily habit यह है कि आप लगातार अपने आप की और अपने जिंदगी की तुलना दूसरे लोगों और उनकी जिंदगी के साथ करते हैं l आप cars, houses, jobs, shoes, money, relationships, social popularity और अन्य ऐसे ही चीजों की तुलना दूसरों से करते हैं l और अंत में आप अपने आत्म सम्मान को ground level में ले जाते हैं और ढेर सारे negative feelings की रचना करते हैं l

आप अपनी तुलना आप से ही करने की आदत डालें l अपने अन्दर के और अपने आस-पास के लोगों के  positive things के बारे में focus करें l सिर्फ तुलना करने और ईर्ष्या करने भर से ही आप जीत नहीं सकते l

5.जीवन के नकारात्मक पहलुओं पर ध्यान केन्द्रित करना (Focusing on the negative details in life)
आपका जीवन के negative aspects पर ध्यान केन्द्रित करना और यह दिखाना कि आप किन बुरे हालातों में हैं , आपकों नाखुश करने का एक प्रमुख कारण है l साथ ही आपका यह आदत आपके आस-पास के लोगों का भी मूड ख़राब करता है l

जब भी इस तरह की चीजें आपके दिमाग में आये तो आप अपने आप से एक सवाल पूछिये कि कैसे मैं इन negative चीजों से लाभ ले सकता हूँ ? या कैसे मैं इन्हें positive things में बदल सकता हूँ ? या , मैं इन problem को कैसे solve कर सकता हूँ ?

6.जीवन को सीमित कर लेना (Limiting life )
अगर आप सोचते हैं कि दुनिया सिर्फ आपके आस-पास ही घूमती है और आप कुछ नया करने की बजाय अपने आप को पीछे धकेल लेते है तो यह आदत आपमें दुनिया के प्रति डर पैदा करती है l आप यह सोचने लगते हैं कि  लोग क्या कहेंगे l इस कारण आप अपनी जिंदगी को सीमित कर लेते हैं l

7.काफी जटिल जिंदगी (Overcomplicating life)
किसी - किसी व्यक्ति की जिंदगी काफी जटिल होता है l इतना जटिल कि वह इतना व्यस्त होता है कि दुसरे भी उससे परेशान रहता है l वह इंसान नहीं बल्कि मशीन की तरह जीवन बिताता है l

इसका मतलब यह नहीं है कि आप कुछ नया नही करें l बल्कि आप दूसरों के लिए भी समय निकालें l Relationship को भी maintain करें l थोड़ा social भी हों और दूसरों की मदद भी करें l इससे आपको वास्तविक ख़ुशी मिलेगी l


निष्कर्ष :- आप जब भी unhappy होते है या जब भी आप tension या दुःख महसूस करते है तो ऊपर वर्णित सातों आदतों पर गौर कीजये l कहीं इनमें से कोई आपके ऊपर भी तो लागू नहीं हो रहा ? बस उसे find out कीजये l जब reason पता चल जाए तो solution खोजा जा सकता है l 


अगर आप इस article को उपयोगी पाते है तो इसे निचे दिए social button के साथ share जरूर करें l

Good Luck! Have a happy life!


Share This Article

Add Comments


EmoticonEmoticon