Meaning Of Poked In Hindi

इस लेख में हमलोग जानेंगे meaning of poked in Hindi अर्थात् poke या poked शब्द का क्या अर्थ होता है? आपने यह शब्द कई बार सुना होगा और देखा होगा विशेषकर Facebook पर जब आपको किसी ने poked किया होगा l तब आप ‘what is meaning of poked in Hindi’ गूगल पर सर्च करना शुरू किया होगा l जाहिर है, आपको जवाब मिल भी गया होगा l तो चलिए आज हम poking means in Hindi के बारे में बात करते हैं तथा meaning of poke को और अच्छे से समझते हैं l

Meaning Of Poked In Hindi
Poking means in Hindi

Meaning of poked in Hindi के इस लेख में what is the meaning of poked in Hindi के अतिरिक्त meaning of poked you in Hindi, poking means in Hindi तथा meaning of poked in Facebook भी शामिल है l

What is the meaning of poked in Hindi?


हिंदी में poke का अर्थ होता है घुसेड़ना, कोंचना या कोचना, किसी नुकीली वस्तु चुभोना या आघात करना, उकसाना, ढकेलना, निकालना इत्यादि l अंग्रेजी में समय, काल, पात्र के हिसाब से इस poke शब्द का इस्तेमाल किया जाता है l Poked शब्द इसी poke का भूतकाल वाला रूप है l

इस प्रकार आप समझ सकते हैं कि हिंदी में poked का अर्थ है- घुसेड़ा, कोंचा, कोई नुकीली वस्तु चुभाया, आघात किया, उकसाया, ढकेला, निकाला, बनाया इत्यादि l अब अलग-अलग समय और सन्दर्भों में इसका भिन्न-भिन्न प्रयोग होता है l चलिए इसे उदहारण से समझते हैं l

Example 1. He opened the door and started poking in the bathroom. (उसने दरवाजा खोला और बाथरूम में झाँकना शुरू कर दिया)

Example 2. Chandan poked a finger in her eyes. (चंदन ने उसकी आँखों में उंगली घुसेड़ दी)

Example 3. Chandan poked a needle in his stomach. (चंदन ने अपने पेट में एक सुई चुभो दी)

ऐसे ढेरों उदहारण हैं जो यह साबित करता है कि समय, काल और पात्र के हिसाब से poke meaning बदल जाता है l आइये अब हम Facebook के सन्दर्भ में poked you meaning को समझते हैं l और, हमें लगता है कि ज्यादातर लोग poked का अर्थ Facebook के सन्दर्भ में ही जानना चाहते हैं क्योंकि कई बार आपको Facebook पर ‘poked you’ वाला नोटिस मिलता है और आप meaning of poked you in Facebook in Hindi खोजने लग जाते हैं l

Meaning of poked you in Facebook


Facebook पर जब कोई आपको poke करता है तो एक notification आता है जिसमें उस व्यक्ति का प्रोफाइल नाम होता है और निचे लिखा रहता है poked you. इसका मतलब है कि आपको उस व्यक्ति ने याद दिलाया है, एक तरह से उसने आपको चिकोटी काटा है, या आपका ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर रहा है l
शायद आप उसे भूल गये हैं या बहुत दिनों से संपर्क में नहीं है l इसका एक दूसरा पहलु यह भी है कि हो सकता है वह व्यक्ति आपके फ्रेंड लिस्ट में नहीं है और वह आपको फ्रेंड रिक्वेस्ट भी नहीं भेज सकता क्योंकि उसके लिए यह आप्शन बंद है तो वह आपको poke किया है l ताकि आप उसे जानें, उसे फ्रेंड बनाये या अन्य हाल-चाल जानें l

आपके पास poke back करने का भी आप्शन रहता है लेकिन ऐसा करने से उस व्यक्ति के लिए भी वही बातें हो जाएगी जो आपके लिए हुआ है l इसलिए “poke you, poke back” करते रहने से कोई फायदा तो नहीं होगा, लोग परेशान जरुर हो जायेंगे l हमें लगता है कि अब आप meaning of poked in Facebook समझ गए होंगे l इस बारे में अपनी प्रतिक्रिया आप हमें कमेंट में निचे लिखें l

Final words for the meaning of poked in Hindi


तो दोस्तों, हमें उम्मीद है कि "meaning of poked in Hindi" का यह लेख आपको जरुर poke means घुसेड़ना, कोंचना या कोचना, किसी नुकीली वस्तु चुभोना या आघात करना, उकसाना, ढकेलना, निकालना इत्यादि को विभिन्न सन्दर्भों में समझने में जरुर हेल्प किया होगा l अगर आप चाहे तो इस poke से रिलेटेड कोई सेंटेंस उदहारण के रूप में निचे कमेंट में लिख सकते हैं ताकि poke का अर्थ और भिन्न-भिन्न सन्दर्भ में उसका उपयोग पाठकों को और अधिक समझने में मदद करेगा l आप इस लेख को शेयर करेंगे तो हमें बेहद ख़ुशी होगी l

सामान्य ज्ञान के निम्न लेख भी पढ़ें -


Bharat Me Kitne Rajya Hai?

इस पोस्ट में हम आपको बता रहे हैं कि भारत में कितने राज्य है? भारत में कुल कितने राज्य हैं, उनके नाम और उनकी राजधानी क्या है? 2019 में भारत में कितने राज्य हैं और कितने केंद्र शासित प्रदेश हैं? वर्तमान में भारत के कुल राज्य और उनकी राजधानी के साथ-साथ वर्तमान केंद्र शासित प्रदेशों के बारे में हिंदी में यह जानकारी आपको जरुर पसंद आयेगा l क्योंकि, कई बार परीक्षाओं में या कहीं भी सामान्य ज्ञान के लिए किसी से भी यह प्रश्न कर दिया जाता है l तो चलिए अब हम भारत में कितने राज्य है 2019 में, इसकी पूरी जानकारी प्राप्त करते हैं l

भारत में कितने राज्य है? (How Many States Are There In India?)


आज के डेट में, भारत में 28 राज्य है l भारत के सभी 28 राज्यों और उनकी राजधानी की सूची यहाँ दी जा रही है l 5 अगस्त 2019 से पहले भारत में 29 राज्य थे, लेकिन 5 अगस्त 2019 के बाद से भारत में कुल 28 राज्य ही हैं l क्योंकि, जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल-370 हटने के बाद उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों (जम्मू-कश्मीर और लद्दाख) में विभक्त कर दिया गया है l

Bharat Me Kitne Rajya Hai
India States Map Source- Wikipedia

भारत के राज्य और उनकी राजधानी (List Of 28 States and Capitals of India)


वर्तमान में भारतीय संसद द्वारा, जम्मू-कश्मीर को केंद्र शासित प्रदेश बनाने के बाद बचे कुल 28 राज्यों की सूची और उनकी राजधानी का नाम निम्नलिखित हैं - 

राज्य राजधानी
1. असम दिसपुर
2. अरुणाचल प्रदेश ईटानगर
3. आन्ध्र प्रदेश हैदराबाद (2 जून 2024 के बाद अमरावती)
4. उत्तर प्रदेश लखनऊ
5. उत्तराखंड देहरादून
6. उड़ीसा भुवनेश्वर
7. कर्णाटक बेंगलुरु
8. केरल तिरुवनंतपुरम
9. गोवा पणजी
10. गुजरात गांधीनगर
11. छत्तीसगढ़ रायपुर
12. झारखण्ड राँची
13. तमिलनाडु चेन्नई
14. तेलंगाना हैदराबाद
15. नागालैंड कोहिमा
16. पंजाब चंडीगढ़
17. पश्चिम बंगाल कोलकाता
18. बिहार पटना
19. मध्यप्रदेश भोपाल
20. महाराष्ट्र मुम्बई
21. मणिपुर इम्फाल
22. मेघालय शिलोंग
23. मिज़ोरम आईजोल
24. राजस्थान जयपुर
25. सिक्किम गंगटोक
26. हरियाणा चंडीगढ़
27. हिमाचल प्रदेश शिमला
28. त्रिपुरा अगरतला


भारत में कितने केंद्र शासित प्रदेश हैं?


भारत में 9 केंद्र शासित प्रदेश है l 5 अगस्त 2019 से पहले भारत में सिर्फ 7 केंद्र शासित प्रदेश थे l लेकिन, 5 अगस्त 2019 के बाद जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल-370 हटने के बाद इसे दो केंद्र शासित प्रदेश में बाँट दिया गया है जिसे मिलाकर अब भारत में कुल 9 केंद्र शासित प्रदेश हो गया है l इन प्रदेशों में केंद्र सरकार सीधे तौर पर शासन करता है l भारत के सभी 9 केंद्र शासित प्रदेशों की सूची निम्न हैं –

  1. अंडमान और निकोबार द्वीप
  2. चंडीगढ़
  3. दादर और नगर हवेली
  4. दमन और दिऊ
  5. दिल्ली
  6. लक्षद्वीप
  7. पुदुचेरी
  8. जम्मू-कश्मीर
  9. लद्दाख


भारत और उनके राज्यों के बारे में


भारत दक्षिण एशिया में स्थित दुनिया का सबसे बड़ा लोकतान्त्रिक देश है और जनसंख्या के हिसाब से यह दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है l 3,287,263 वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल का भारत देश 28 राज्यों और 9 केंद्र शासित प्रदेशों में बंटा हुआ है l भारत देश की राजधानी दिल्ली है जबकि प्रत्येक राज्यों की अपनी अलग राजधानी है जहाँ से प्रशासनिक, विधायी और न्यायिक कार्यों का संचालन किया जाता है l

क्षेत्रफल के दृष्टिकोण से राजस्थान भारत का सबसे बड़ा राज्य है जबकि जनसंख्या के दृष्टिकोण से सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश है l

क्षेत्रफल की दृष्टिकोण से गोवा सबसे छोटा राज्य है जबकि, सिक्किम भारत का सबसे कम जनसंख्या वाला राज्य है l

सारांश


दोस्तों, हमें उम्मीद है कि “Bharat Me Kitne Rajya Hai” अब आपको पता चल गया होगा l वर्तमान में, भारत में कुल कितने राज्य हैं इसकी लेटेस्ट जानकारी हमने आपके साथ शेयर किया है l अब जब आपसे कोई पूछे कि भारत में कितने राज्य हैं तो आप तुरंत ही कहे कि भारत में 28 राज्य है l क्योंकि अब यह कहना कि भारत में 29 राज्य है गलत होगा l क्योंकि 29 राज्यों में से जम्मू-कश्मीर को अलग कर केंद्र शासित प्रदेश बना दिया गया है l

इस पोस्ट से संबधित अपने विचार हमें कमेंट बॉक्स में लिखें l साथ ही इस जानकारी को अपने अन्य दोस्तों के साथ सोशल शेयर भी करें l अगर आप अन्य कोई भी सवालों के जवाब lovehindi.com से चाहते हैं तो कमेंट में वह भी लिखें l

सामान्य ज्ञान के अन्य लेख


भारत का शिक्षा मंत्री कौन है 2019 ?

Shiksha Mantri:- भारत के शिक्षा मंत्री कौन है 2019? इस लेख में आप वर्ष 2019 में लोकसभा चुनाव के उपरांत बने नए शिक्षा मंत्री और उनका पूरा प्रोफाइल जानेंगे l लेकिन यह जानने से पहले हम आपको बता दें कि 30 मई 2019 को मोदी सरकार 2.0 की शुरुआत हुई जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ-साथ 25 कैबिनेट मंत्रियों ने पद एवं गोपनीयता का शपथ लेकर अपना कार्यभार संभाला l



मोदी के कैबिनेट मंत्रियों के लिस्ट में जितने भी नाम शामिल हैं हम उनके बारे में अलग-अलग लेख में विस्तृत जानकारी प्राप्त करेंगे l इस लेख में हम आपको यह बताने जा रहे हैं कि मई 2019 में नया सरकार बनने के बाद शिक्षा मंत्री का पद किसे मिला? या यूँ कहें कि भारत के वर्तमान में शिक्षा मंत्री या मानव संसाधन विकास मंत्री कौन हैं?


भारत के वर्तमान शिक्षा मंत्री कौन हैं 2019?


अब हम आपको यह बता रहे हैं कि 2019 में भारत के शिक्षा मंत्री कौन है? रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ (Ramesh Pokhriyal 'Nishank') भारत के वर्तमान शिक्षा मंत्री हैं l शिक्षा मंत्री को वर्तमान में मानव संसाधन विकास मंत्री कहा जाता है l

वर्ष 2019 में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) सरकार बनने के बाद श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ को मानव संसाधन विकास मंत्रालय का पदभार मिला l अतः श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ शिक्षा मंत्री 2019 के रूप में जाने जायेंगे l

यह भी जानें - वर्तमान में भारत में कितने राज्य है?

About Ramesh Pokhriyal 'Nishank'


Shiksha mantri 2019

रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ का जन्म 15 जुलाई 1959 ई० को उतराखंड राज्य के पौढ़ी गढ़वाल में हुआ था l वर्ष 1991 में वे पहली बार भारतीय जनता पार्टी से तत्कालीन उत्तरप्रदेश के कर्णप्रयाग सीट से विधायक चुने गए थे l इसके बाद वे लगातार तीन बार विधायक चुने गए l वर्ष 2000 में उत्तराखंड बनने के बाद वे कई विभागों के मंत्री रहे, तत्पश्चात 2009 में उत्तराखंड के सबसे युवा मुख्यमंत्री हुए l

वर्ष 2014 में पहली बार लोकसभा के लिए हरिद्वार सीट से बीजेपी सांसद बने और वर्ष 2019 में पुनः इसी सीट से दोबारा सांसद चुने गए l उनकी इसी लोकप्रियता के चलते उन्हें मोदी कैबिनेट में जगह मिला और देश के मानव संसाधन विकास मंत्री अर्थात् शिक्षा मंत्री के रूप में सम्मानित हुए l

डॉ० रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ का दूसरा पहलू यह भी हैं कि वे साहित्यिक विधा से भी जुड़े रहे हैं l उन्होंने हिंदी के कई विधाओं यथा कविता, उपन्यास, खण्ड काव्य, लघु कहानी, यात्रा साहित्य आदि में सम्मानजनक स्थान ग्रहण किया है l पूर्व राष्ट्रपति डॉ० ए.पी.जे. अब्दुल कलाम के द्वारा साहित्य गौरव सम्मान भी प्राप्त किये हैं l इसके अतिरिक्त उन्हें राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर कई सम्मान प्राप्त हो चूका है l



कुल मिलाकर देखा जाये तो भारत के शिक्षा मंत्री के तौर पर डॉ० रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ बहुत ही उपयुक्त व्यक्ति हैं और हम आशा करते हैं कि उनके कार्यकाल में भारत मानव विकास एवं शैक्षिक क्षेत्र में अभूतपूर्व प्रगति करेगा l
तो दोस्तों, आपने इस लेख में यह जाना कि "भारत के शिक्षा मंत्री कौन है 2019"? अगले पोस्ट में आप भारत के रेल मंत्री, गृह मंत्री, रक्षा मंत्री, विदेश मंत्री, लोकसभा अध्यक्ष इत्यादि सभी कैबिनेट मंत्रियों के बारे में जो 17वीं लोकसभा 2019 में बने हैं के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करेंगे l

अगर यह जानकारी अच्छा लगे तो इसे अन्य दोस्तों के साथ शेयर भी करें l इस पोस्ट से संबंधित अपने विचार आप हमें कमेंट जरुर करें l धन्यवाद l


15 August speech in Hindi (स्वतंत्रता दिवस पर भाषण 2019)

15 August speech in hindi
15 August speech in Hindi

दोस्तों, भारत में हम हर साल 15 अगस्त को बड़े ही धूम-धाम से मनाते हैं l और मनाये भी क्यों नहीं? 15 अगस्त हमारे लिए सर्वश्रेष्ठ दिन जो हैं ! इस दिन हम आजादी के जश्न में डूब जाते हैं l स्कूलों, कॉलेजों, सार्वजानिक संस्थाओं और निजी संस्थाओं में कई तरह के आयोजन किये जाते हैं l भाषण दिए जाते हैं l भाषण प्रतियोगिता भी आयोजित की जाती है l इसी कड़ी में आज हम आपके लिए लेकर आये हैं स्वतंत्रता दिवस पर भाषण 2019 l

15 August speech in hindi या स्वतंत्रता दिवस पर भाषण हिंदी में l स्वतंत्रता दिवस पर भाषण 2019 के अंतर्गत बेस्ट और लेटेस्ट 15 अगस्त स्पीच हिंदी में आप पढ़ेंगे l साथ ही 15 August par bhashan देना आपके लिए सहज हो जायेगा l 15 August speech या Independence day speech खासकर विद्यार्थियों, शिक्षकों, अभिभावकों या अन्य किसी भी नागरिकों के लिए अत्यंत ही सरल और सहज रूप में पेश किया जा रहा है l आप इसे एक-दो बार सिर्फ पढ़ भी लेंगे तो सहज ही किसी भी कार्यक्रम में दो शब्द बोल लेंगे l आपको भाषण रटने की जरुरत नहीं पड़ेगी l तो चलिए शुरू करते हैं l



15 August speech in hindi | 300 शब्दों में | विद्यार्थियों के लिए उपयुक्त |


आदरणीय मुख्य अतिथि, गुरुजनों, अभिभावकों एवं मेरे प्रिय साथियों ! मुझे बहुत ख़ुशी है कि आज 15 अगस्त अर्थात् स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मुझे दो शब्द बोलने का अवसर मिला है l इसके लिए मैं आप सभी का आभारी हूँ l

15 अगस्त 1947 का दिन भारतीय इतिहास में स्वर्णाक्षरों में अंकित है l इस दिन 200 सालों की गुलामी से हमें आजादी मिली थी l लेकिन, आजादी का यह सौभाग्य हमें खैरात में नहीं मिला l आजादी के लिए हमने लाखों क़ुर्बानियाँ दी हैं l आज उन सभी वीर सपूतों को हम नमन करते हैं जो आजादी के लिए शहीद हो गए l वीर भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, सुभाष चन्द्र बोस, लाला लाजपत राय, खुदीराम बोस जैसे सैकड़ों सपूतों ने आजादी के लिए लड़ते-लड़ते शहीदी दी है l हम उन्हें ह्रदय से नमन करते हैं तथा उन्हें श्रद्धांजलि देते हैं l

आज के दिन हम उन सच्चे मातृभूमि के सपूतों को भी याद करते हैं और नमन करते हैं जिन्होंने राजनीतिक रूप से अपना तन मन धन देश की आजादी के लिए समर्पित कर दिया l महात्मा गाँधी, जवाहरलाल नेहरु, डॉ राजेंद्र प्रसाद, सरदार वल्लभभाई पटेल आदि नेतृत्वकर्ताओं ने अपना जीवन देश की आजादी के लिए खपा दिया l आज हम उन्हें सच्चे दिल से नमन करते हैं l

आज का यह दिन उन वीर सपूतों को भी समर्पित है जो आजादी के बाद हमारे देश की सीमाओं पर देश की संप्रभुता की रक्षा हेतु शहीद हो गए l वर्तमान में, देश की सीमाओं पर तैनात उन वीर सपूतों को भी सैल्यूट करते हैं जो दिन रात हमारी रक्षा हेतु तैनात हैं l साथ ही उन सपूतों के मताओं को भी प्रणाम करते हैं जिन्होंने ऐसे वीर पैदा किये हैं l

15 अगस्त आजादी का दिन है l एक ऐसी आजादी जिसकी कल्पना पूर्वजों ने की थी l लेकिन क्या सच में हम पूर्ण रूप से आजाद हैं? यह एक बड़ा सवाल है l आजादी के इतने साल बीतने के बाद भी अशिक्षा, गरीबी, बेरोजगारी, बाल मजदूरी, मानव व्यापार, देह व्यापार, भ्रष्टाचार और बेईमानी से हमें आजादी नहीं मिली है l आज जब हम अपने तिरंगे को लहराते हुए देखते हैं तो हमारा सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है l लेकिन इसी तिरंगे के नीचे आज मैं कसम खाता हूँ कि पढ़-लिखकर एक सच्चा और ईमानदार नागरिक बनूँगा l देश सेवा में सदैव समर्पित रहूँगा l जिऊंगा तो देश के लिए, मरूँगा भी तो देश के लिए l

अंत में मैं कहना चाहता हूँ कि–
“मेरी जज्बातों से इस कदर वाकिफ है मेरी कलम,
मैं इश्क भी लिखना चाहूँ तो इन्कलाब लिखा जाता हैl”

जय हिन्द, जय भारत l वन्दे मातरम् l

आप यह भी पढ़ें-


15 August speech in hindi | 1000 शब्दों में | शिक्षकों या अभिभावकों के लिए उपयुक्त |


सम्माननीय मुख्य अतिथि, उपस्थित शिक्षकवृन्द, अभिभावकगण एवं हमारे प्रिय छात्र-छात्राएँ l अपार हर्ष की बात है कि आज हम आसमान में लहराते तिरंगे के नीचे खड़े होकर अपनी आजादी का जश्न मना रहे हैं l देश भक्ति में डूबे हुए हैं l लहराते तिरंगे की तरह हमारा सीना भी गर्व से चौड़ा हो चूका है l आजादी का यह अहसास जो हम सभी को है इसके पीछे अत्यंत ही मार्मिक और दर्दनाक इतिहास छिपा हुआ है l एक ऐसा इतिहास जिसे याद कर हमारा खून खौल उठता है l एक ऐसा इतिहास जिसे याद कर हम जोश और जज्बे से भर जाते हैं l

प्रिय बच्चों, आप जानते हैं कि हमारा देश 200 सालों तक अंग्रजों के गुलाम रहा l इस बीच अंग्रेजों ने हमारे पूर्वजों को कैसी यातनाएँ दी, उन्हें कितनी पीड़ा सहन करना पड़ा, यह सब याद कर हमारी आँखें भर आती हैं l लेकिन हमारे कुछ वीर सपूतों ने यह पीड़ा सहने से इंकार कर दिया और अंग्रेजों के खिलाफ जंग का बिगुल फूंक दिया l

अंग्रेजों के खिलाफ जंग की शुरुआत 1857 ई० में हो चूका था l हालाँकि अंग्रेजों ने उन्हें बड़ी आसानी से कुचल दिया l लेकिन जंग की वह चिंगारी सुलगती रही और बाद में एक के बाद एक ऐसे-ऐसे सपूत पैदा हुए, जिन्होंने अंग्रेजों के दांत खट्टे कर दिए l मंगल पांडे, चंद्रशेखर आजाद, भगत सिंह, सुभाष चन्द्र बोस ऐसे ही सपूत हुए जिन्होंने आजादी के लिए अपने प्राण गवां दिए l दूसरी तरफ महात्मा गाँधी, पंडित जवाहरलाल नेहरु, सरदार वल्लभभाई पटेल जैसे नेतृत्वकर्ता भी हुए जिन्होंने आन्दोलन को सही दिशा देकर अंग्रेजो को भारत छोड़ने पर मजबूर कर दिया l और अंततः 15 अगस्त 1947 को हमारा देश आजाद हो गया l

जब हमारा देश आजाद हुआ तो हमने दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र को स्थापित किया l डॉ भीमराव अम्बेडकर की अगुवाई में हमारे देश का अपना संविधान बना जो 26 जनवरी 1950 को लागु हुआ l आजाद भारत में हमारे संविधान ने हमें कई प्रकार के अधिकार प्रदान किये l साथ ही हमें हमारे कर्तव्यों का भी बोध कराया l लेकिन कालांतर में हमारे राजनेताओं की निरंकुशता और एवं स्वार्थसिद्धि की निति ने आजादी के इतने साल बीत जाने के बाद भी हमें अलग तरह से गुलाम बना दिया l कई उदहारण हैं जो यह साबित करता है कि देश अंग्रेजों से आजाद तो हो गया लेकिन देश में अभी भी कई अन्य प्रकार की गुलामी का दंश मौजूद है l जैसे-

अशिक्षा: देश में साक्षरता दर अभी भी 74.04 प्रतिशत ही है, हालाँकि यह 2011 की जनगणना रिपोर्ट है l कुछ राज्यों की स्थिति तो साक्षरता के मामले में बहुत सही नहीं है l अगर यही हाल रहा तो अशिक्षा जैसी गुलामी से मुक्त होने में हमें 50 साल और लग जायेंगे l हालाँकि अब सरकार ने समग्र शिक्षा अभियान चलाया है तथा नयी शिक्षा निति 2019 लागु करने जा रही है जो शिक्षा को जरुर गति प्रदान करेगा l समाज का भी दायित्व है कि आगे बढ़कर शिक्षा को जन आन्दोलन का रूप दें l खासकर बेटियों की शिक्षा के लिए उन्हें आगे आना होगा l सरकार ने “बेटी बचाओ, बेटी पढाओ” अभियान भी चलाया है जिसका मकसद ही है बेटियों की अस्तित्व की रक्षा, उनकी शिक्षा और सुरक्षा को सुदृढ़ करना l लेकिन यह सब आप सभी की भागीदारी से ही संभव हो सकता है l

गरीबी: आजादी के बाद से ही भारत गरीबी से जूझता रहा है l सरकारी आंकड़ों की मानें, तो भारत में अभी भी 37 प्रतिशत आबादी गरीबी रेखा से नीचे है l इसके पीछे अशिक्षा एक मुख्य वजह है l हालाँकि देश में गरीबों की संख्या लगातार कम हो रहा है फिर भी इसमें काफी समय लगने वाला है l हाल के दिनों में कई प्रधानमंत्री योजनाओं के जरिये इसे कम करने का लगातार प्रयास जारी है l

असमानता: हमारा संविधान समानता की वकालत करता है, लेकिन कई क्षेत्रों में असमानता की खाई काफी बड़ी है l लैंगिक असामनता इसका सबसे मुख्य उदहारण है l 2011 की जनसंख्या के हिसाब से देश में 1000 लड़कों पर लड़कियों की संख्या मात्र 918 है जो अत्यंत सोचनीय है l श्रम के क्षेत्र में भी लैंगिक विषमता बहुत ज्यादा है l श्रमशक्ति में महिलाओं का मात्र 29 प्रतिशत भागीदारी है l उनमें भी आधे से अधिक अवैतनिक है या खेती से जुड़े कार्य ही करती है l 60 प्रतिशत महिलाओं के नाम से कोई मूल्यवान परिसंपति नहीं है l कुछ साल पहले तक तो बैंकों में उनके नाम से न के बराबर खाता था l ये तो शुक्र है जनधन योजना का जिसकी बदौलत आज ग्रामीण क्षेत्र की महिलाएं भी बैंकों से जुड़ चुकी है l

दूसरी बात यह भी कि महिलाएं पहले से ज्यादा यौन हिंसा के शिकार हो रही है l आजाद भारत का यह कैसा दृश्य है कि महिलाएं स्वतंत्र रूप से काम नहीं कर सकती, स्वतंत्र रूप से घूम नहीं सकती, स्वतंत्र रूप से अपने विचार व्यक्त नहीं कर सकती ! अगर सही मायने में हम 15 अगस्त जैसे महापर्व को और सार्थक बना सकते हैं तो उसके लिए हमें महिलाओं को भी बराबर दृष्टिकोण से देखना होगा l उन्हें वो सारे अधिकार और स्वतंत्रता देनी होगी जो पुरुषों को प्राप्त है l

एक और मुद्दा जो देश में अभी जन आन्दोलन बना हुआ है वह है स्वछता l आखिर ऐसा क्यों हुआ कि इसे एक जन-आन्दोलन का रूप देना पड़ा l वजह साफ है l हम आज तक इतनी गन्दगी और कचड़ा फैलाते रहे हैं कि हमने हमारा पर्यावरण की कोई चिंता नहीं की l हम इतने स्वतंत्र हो गए कि गन्दगी फ़ैलाने में किसी ने किसी को रोका-रोका तक नहीं l 15 अगस्त को हम तिरंगा फहरा कर औपचारिकता पूरी कर लेना ही देश भक्ति समझते हैं l लेकिन, आपको समझना होगा कि देश भक्ति आपके हर कर्म और कर्तव्य में समाहित होना चाहिए l

कहने को तो बहुत कुछ है l लोग 15 अगस्त पर भाषण भी खूब देते हैं l लेकिन मेरा बोलने का मकसद सिर्फ यह नहीं है कि बोलकर हम अपनी औपचारिकता पूरी कर लें l हमारा मकसद है कि आप जागरुक बनें, समझदार बनें, स्वच्छ रहें, स्वस्थ रहें, शिक्षित बनें l समाज से गरीबी को दूर करने, समाज में एकरूपता लाने, बेटियों को आजादी देने और देश को मजबूत करने के लिए आप जो कुछ भी कर सकते हैं करें l अपने लोकतंत्र को बचाए l उन्हें और मजबूत करें l

इतना याद रखें, सबकुछ सरकार के भरोसे मत छोड़ दें l सरकार आती है और जाती है लेकिन आप जो सरकार बनाते हैं उसपर हमेशा दवाब बना कर रखें l वोट देने की आजादी आपको है लेकिन सरकार को यूँ ही आजाद न छोड़ दें l जिस काम के लिए उसे आप वोट देते हैं उसे पूरा करने का लगातार दवाब बनाते रहे l तभी जन हित और देश हित में सरकार भी काम करेगी l वर्ना लोकतंत्र के नाम पर आप यूँ ही इस्तेमाल किये जाते रहेंगे l अंत में मैं आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें देता हूँ l

जय हिन्द, जय भारत l भारत माता की जय l वंदेमातरम् l 

आप यह भी पढ़ें-



दोस्तों, हमें लगता है कि हिंदी में 15 अगस्त पर भाषण जो हमने लिखा है वह आज के परिप्रेक्ष्य में सटीक है l बोलने को और लिखने को तो बहुत कुछ है लेकिन भाषण संक्षिप्त और सारगर्भित रहे यही अच्छा है l स्वतंत्रता दिवस पर भाषण 2019 के अंतर्गत यह भाषण आपको कैसा लगा हमें कमेंट जरुर करिए l साथ ही 15 August speech in hindi से संबंधित कोई टॉपिक आप अपने भाषण में जोड़ना चाहते हैं तो वह भी नीचे लिख डालिए ताकि आपके सहयोग से यह best speech on independence day in hindi बन सके l

हमें ख़ुशी होगी अगर आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करेंगे l साथ ही और भी ख़ुशी होगी जब आपको कहीं मौका मिले दो शब्द बोलने का और आप हमारे इस 15 August par bhashan को अपने शब्द में शामिल करेंगे l धन्यवाद l

Raksha Bandhan vs Rakta Bandhan 2019 कब और कैसे ?


Raksha Bandhan vs Rakta Bandhan 2019: रक्षाबंधन 2019 में 15 अगस्त को मनाया जा रहा है l रक्त बंधन का यह महापर्व भाई और बहन के अगाध प्रेम का प्रतिक है l इस ब्लॉग पोस्ट में आप हिन्दी में importance of Rakshabandhan के साथ ही how to celebrate Rakshabandhan के बारे में पढेंगे l साथ ही कुछ बहुत ही beautiful lines on Raksha Bandhan hindi में पढ़कर आप ख़ुशी अनुभव करेंगे l हम आशा करते हैं कि इसे आप अन्य भाई - बहनों के साथ सोशल शेयर भी जरुर करेंगे l


When is Raksha Bandhan vs Rakta Bandhan vs Rakhi Bandhan 2019 ?


हिन्दू शास्त्रों के अनुसार रक्षाबंधन प्रत्येक साल श्रावण मास के शुक्ल पक्ष में पूर्णिमा को मनाया जाता है l और साल 2019 में श्रावण पूर्णिमा 15 अगस्त को है l इस प्रकार यह रक्षा बंधन / राखी बंधन / रक्त बंधन का पर्व 15 अगस्त को मनाया जा रहा है l धर्म शास्त्र के पंडित शुभ मुहूर्त की घोषणा करते हैं तत्पश्चात बहनें अपने भाइयों के कलाई पर राखी बांधती है l इस बार 15 अगस्त को रक्षा बंधन का शुभ समय सुबह सूर्योदय से लेकर सायं के 6 बजे तक है l 
Raksha Bandhan vs Rakta Bandhan 2018
Raksha Bandhan 2019

How to Celebrate Rakshabandhan ?


रक्षाबंधन कैसे मनाया जाये इसके लिए एक ही सर्वमान्य मत है l इस दिन बहन उपवास रखती है l शुभ मुहूर्त में स्नान कर नए वस्त्र धारण कर पूजा की थाल सजाती है l पूजा की थाल में राखी, चन्दन, हल्दी, अक्षत और मिठाई अवश्य रखती है l भाई को भी इस दिन राखी बंधवाने तक उपवास रखना चाहिए l अब बहन सबसे पहले भाई के माथे पर तिलक करती है और उनका आरती उतारती है l उसके बाद भाई के दाहिने कलाई पर राखी बांधती है और उन्हें मिठाई खिलाती है l बहन छोटी हो तो भाई कर चरण स्पर्श कर आशीर्वाद लेती है और यदि बहन बड़ी हो तो भाई अपनी बहन का चरण स्पर्श कर आशीर्वाद लेता है l आखिर में भाई अपनी बहन को गिफ्ट जरुर देता है l साथ ही बहन की आजीवन रक्षा की शपथ भी लेता है l इस प्रकार भाई बहन का यह अमूल्य प्रेम आजीवन प्रगाढ़ रहता है l

RELATED- QUOTES ABOUT WOMEN IN HINDI.

How to Celebrate Rakshabandhan ?

Importance of Raksha Bandhan (राखी का महत्व)


रक्षा का यह पावन पर्व जहाँ एक ओर बहन का प्यार और विश्वास को दर्शाता है वहीँ भाई अपनी बहन को जीवन भर सुरक्षा का वचन भी देता है l एक धागा में इतनी शक्ति और विश्वास है तो इसका दायरा भी आज बढ़ाने की आवश्यकता है l आधुनिक परिप्रेक्ष्य में रक्षा के इस सूत्र का संबंध सिर्फ भाई और बहन के बीच ही न रखकर सम्पूर्ण मानवजाति के लिए हो, विश्व शांति के लिए हों, पर्यावरण की सुरक्षा के लिए हों, बुजूर्गों की देखभाल और रक्षा के लिए हों, बेटियों के लिए हों, साथ ही पशु-पक्षियों के लिए भी हों l हमारे समझ से यह इकलौता पर्व बन जायेगा इस दुनिया में जो जाति-धर्म से ऊपर सम्पूर्ण मानव कल्याण का पर्व होगा l मनुष्य अपनी सोच को इतना विस्तार देकर देखें तो राखी के महत्व का अंदाजा साफ तौर पर समझ में आ जायेगा l

ALSO, READ- 15 AUGUST SPEECH IN HINDI



Some Beautiful Lines on Raksha Bandhan for Brothers and Sisters


  • बहन सगी हो या मुंह बोली, बहन तो बहन ही होती हैं l 
  • भाई अपनी बहन का सबसे अच्छा दोस्त होता है , इसलिए उसे अजनबियों से दूर रखता है l 
  • बहनों को सबसे ज्यादा रुलाते भी भाई हैं और सबसे ज्यादा हँसाते भी भाई ही है l 
  • भाई जितना भी तंग कर लें बहनों को लेकिन भाई तो बहन की जान होती हैं l 
  • जानू कहने वाली गर्ल फ्रेंड हो या न हो लेकिन ओए हीरो कहने वाली बहन जरुर होना चाहिए l 
  • भाई बहन को परेशान जरुर करता है लेकिन कभी परेशान देख नहीं सकता l 
  • एक बहन का पहला हीरो उनका भाई ही होता है l 
  • बहुत याद आती हैं बहनें जब वो पराई हो जाती हैं l 
  • भाई बहन में लड़ाई न हो तो जिंदगी मुक्कम्मल नहीं लगती l 
  • एक भाई बहन का प्यार ही है जिसमें कभी ब्रेक अप नहीं होता l 

सही मायने में यह रक्षा बंधन एक रक्त बंधन ही हैं l आपको यह पोस्ट - "Raksha Bandhan vs Rakta Bandhan 2019" कैसा लगा कमेंट करके जरुर बताएं l भाई बहन पर कोई सुन्दर विचार आप व्यक्त करना चाहे तो भी नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें l "Happy Rakshabandhan 2019."

आप इसे भी पढ़ें - FRIENDSHIP QUOTES IN HINDI.

NIOS DELED CERTIFICATE अब आप प्राप्त कर सकते हैं l जानें प्रक्रिया l

NIOS DELED CERTIFICATE

NIOS द्वारा अप्रशिक्षित शिक्षकों के लिए चलाया गया दो वर्षीय DELED पाठ्यक्रम का मूल CERTIFICATE जारी कर दिया गया है l NIOS DELED CERTIFICATE प्राप्त करने के लिए क्या करना होगा? NIOS DELED CERTIFICATE 2019 कब से मिलेगा? और, NIOS DELED ORIGINAL MARKSHEET का HARD COPY कहाँ से ले सकते हैं? इन सभी सवालों के जवाब आपको यहाँ मिल जायेंगे l साथ ही हम यहाँ उन प्रक्रियाओं की जानकारी दे रहें हैं जिससे कि आप सत्र 2017-19 का NIOS DELED CERTIFICATE, MARKSHEET एवं अन्य जरुरी प्रमाणपत्र आसानी से प्राप्त कर सकते हैं l

NIOS DELED CERTIFICATE के बारे में


शिक्षा का अधिकार कानून के प्रावधानों के तहत मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार ने 31 मार्च 2019 तक देश के अप्रशिक्षित शिक्षकों को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य रखा और इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान (NIOS) को जिम्मा सौंपा गया l NIOS ने सफलता पूर्वक इस जिम्मेदारी को निभाया और 31 मार्च 2019 तक में पुरे देश के लगभग 12 लाख अप्रशिक्षित शिक्षकों को प्रशिक्षित कर एक रिकॉर्ड कायम कर लिया l हालाँकि अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाओं के उपरांत लगभग 2 लाख शिक्षकों का रिजल्ट इन्कम्प्लीट रह गया l अब उन शिक्षकों के लिए जल्द ही सप्लीमेंट्री परीक्षा आयोजित की जाएगी l

NIOS DELED के फाइनल और अंतिम सेमेस्टर का रिजल्ट 22 मई 2019 को जारी किया गया था l फ़िलहाल जितने शिक्षकों ने DELED COURSE सफलतापूर्वक कम्पलीट कर लिया है उन सभी के लिए NIOS ने CERTIFICATES जारी कर दिया है l अब आप सभी प्रशिक्षु NIOS DELED PASS CERTIFICATE एवं मूल प्रमाणपत्र ले सकते हैं l

HOW CAN YOU GET PASSING CERTIFICATE FROM NIOS?


अब आपके मन में यही सवाल उत्पन्न हो रहा होगा कि how can I get passing certificate from Nios? यह बहुत ही आसान है l आप सभी प्रशिक्षु NIOS DELED का original certificate hard copy में अपने study center से ले सकते हैं l NIOS ने 26 जुलाई 2019 को अपने सभी क्षेत्रीय कार्यालय को सभी सर्टिफिकेट्स भेज दिए हैं जो कि एक दो सप्ताह के अन्दर आपके स्टडी सेण्टर को उपलब्ध करा दिया जायेगा l उम्मीद है कि 15 अगस्त तक आपको DELED CERTIFICATE हस्तगत करा दिया जायेगा l

जब भी आप अपने सर्टिफिकेट्स लेने स्टडी सेण्टर जाएँ तो अपने साथ जरुरी कागजात जरुर ले कर जाएँ l जैसे कि NIOS द्वारा जारी आइडेंटिटी कार्ड, एडमिट कार्ड, आधार कार्ड आदि l एक बात ध्यान में रखें कि जिसके नाम से certificate हैं सिर्फ वे ही उन्हें रिसीव कर सकते हैं l किसी के बदले में सर्टिफिकेट्स नहीं दिए जायेंगे l

आप NIOS DELED का सत्रानुसार रिजल्ट यहाँ से देख सकते हैं-

हमें आशा है कि "NIOS DELED CERTIFICATE" प्राप्त करने के लिए उपरोक्त प्रक्रिया ही मान्य है जिसे आप समझ गए होंगे l इससे संबंधित कोई सवाल हो तो आप हमें कमेंट में पूछे l उचित सोर्स से सही जानकारी आप तक पहुँचाने का प्रयास करेंगे l इस जानकारी को अन्य दोस्तों के साथ भी साझा करें l

Sarkari Result: हिंदी में सरकारी रिजल्ट की पूरी जानकारी l

Sarkari Result: हिंदी में | srkari rslt com, sarkari result in hindi, sarkari result info hindi, sarkari ruselt, srkari result, sarkari rijalt. सरकारी रिजल्ट की पूरी जानकारी सिर्फ lovehindi.com पर l



प्रत्येक साल, देश में केंद्र सरकार के द्वारा तथा राज्य सरकार के द्वारा लाखों रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये जाते हैं l सरकारी विभागों में सरकार के द्वारा जो भी vacancy निकाली जाती है उसमें देशभर से लाखों करोड़ों युवक-युवतियाँ आवेदन करते हैं l क्योंकि sarkari naukri का क्रेज हमेशा से बना हुआ है l उदहारण के लिए, साल 2018 में Railway Group D Vacancy केंद्र सरकार के द्वारा निकाली गयी थी , जिसमें लगभग पुरे देश से 1.5 करोड़ के लगभग आवेदन किये गए l इससे साफ जाहिर होता है कि sarkari job कोई भी हो लोगों का सपना होता है उसे हासिल करना l



सरकारी नौकरी की सबसे खास बात यह भी है कि यह सभी स्तर के योग्यताधारी अभ्यर्थियों के लिए खुला होता है l विभिन्न पदों के हिसाब से, आठवीं पास अभ्यर्थी से लेकर matricualtion level, higher secondary level तथा gradute level और इससे भी ऊपरी योग्यता तक के अभ्यर्थियों के लिए यह रोजगार उपलब्ध होता है l अतः लाखों लोगों के पास यह अवसर होता है कि वे government job प्राप्त कर सके l इसलिए स्वाभाविक है कि यदि लाखों लोग सरकारी जॉब के लिए आवेदन करते हैं तो वे सभी sarkary rijalt भी देखने के लिए उत्सुक रहते हैं l तो इस आर्टिकल में हम आपको एक सुलभ तरीका बताने जा रहे हैं कि आप हिंदी में sarkari result कैसे देखें ? अगर आप यह जानना चाहते हैं कि hindi me sarkari result कब, कहाँ और कैसे देखें तो यह आर्टिकल आपके लिए ही है l
sarkari result in hindi

सरकारी नौकरी की चयन प्रक्रिया (Selection Procedure of Government Job)

सरकारी नौकरी की स्थायित्व, सुरक्षा, सम्मान और सैलरी के क्रेज को लेकर प्रत्येक साल लाखों लोग प्रयास करते हैं, लेकिन सीट की कमी के कारण प्रतियोगिता काफी कड़ा हो जाता है l हरेक government vavancy के लिए अलग पात्रता और प्रक्रिया निर्धारित होती है l मुख्य रूप से चयन के लिए दो चरण होते है- पहला प्रारंभिक परीक्षा (Prelims) और दूसरा मुख्य परीक्षा (Mains) l लेकिन किन्ही में तीन चरण भी होते हैं – प्रारंभिक (Prelims), मुख्य (Mains) और साक्षात्कार (Interview) l हाल के वर्षों में, चतुर्थ श्रेणी के पदों पर भर्ती हेतु साक्षात्कार (Interview) को हटा दिया गया है l कुछ मामलों में सीधी भर्ती प्रक्रिया भी अपनाया जाता है जिसमें अभ्यर्थी द्वारा हासिल किये गए डिग्रियों के मार्क्स के आधार पर चयन कर लिया जाता है l बिहार में नियोजित शिक्षकों की भर्ती इसका बेहतर उदहारण हैं जिसमें लाखों शिक्षकों की बहाली सिर्फ मार्क्स बेसिस पर हुआ है l

Sarkari Result Info Hindi (सरकारी रिजल्ट की सूचना)

सरकारी नौकरी के लिए परीक्षा के जितने चरणों का आयोजन किया जाता है उनके रिजल्ट भी अलग-अलग जारी किये जाते हैं l यह पोस्ट “Sarkari Result: हिंदी में सरकारी रिजल्ट की पूरी जानकारी“ आपको विभिन्न सरकारी परीक्षा और उनके रिजल्ट का पूरा information देगा  जो आप sarkariresult.com पर भी देखते हैं l इसलिए इसे आगे पढ़ते रहें l

Sarkari Result 2018-19 in Hindi

सरकार के अंतर्गत बहुत से विभाग हैं l और हरेक विभाग में समयानुसार vacancy आते रहता है l कुछ बहुत ही महत्वपूर्ण केन्द्रीय सरकारी विभाग हैं – Staff Selection Commission (SSC), Union Public Service Commission (UPSC), Railway Recruitment Board (RRB), Air Force, Navy, BSF, Institute of Banking Personnel Selection (IBPS), LIC इत्यादि l इसके अतिरिक्त अलग-अलग राज्यों में भी राज्य स्तर पर बहुत सरकारी विभाग हैं जहाँ नौकरी पाया जा सकता है l आगे आप कुछ महत्वपूर्ण सरकारी नौकरियों और उसके सरकारी रिजल्ट के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करेंगे l



Sarkari Result For SSC Exams in Hindi

कर्मचारी चयन आयोग (Staff Selection Commission) जिसे हम संक्षेप में SSC कहते हैं, केन्द्रीय सरकार के अंतर्गत बहुत से विभागों, मंत्रालयों, ऑफिसों आदि में बहाली का आयोजन करता है l SSC विभिन्न पदों और योग्यताओं के आधार पर कई एग्जाम आयोजित करता है जैसे - SSC CHSL, SSC JE, SSC GD Constable, SSC CGL, SSC Stenographer, SSC MTS, SSC IMD Scientific Assistant इत्यादि l इन सभी sarkari results के लिंक नीचे दिए गए हैं जिसे समय-समय पर अपडेट किया जायेगा l इस लिंक से आप SSC Exams के sarkari result देख सकते हैं l जैसे-

Sarkari Result for SSC CHSL in Hindi 
Sarkari Result for SSC CGL in Hindi
Sarkari Result for SSC JE in Hindi
Sarkari Result for SSC Stenographer in Hindi
Sarkari Result for SSC MTS in Hindi
Sarkari Result for SSC IMD Scientific Assistant in Hindi
SSC के अंतर्गत और भी अगर कोई रिजल्ट जारी किया जायेगा तो उसका भी रिजल्ट लिंक समयानुसार अपडेट कर दिया जायेगा l

Sarkari Result For RRB Exams in Hindi

रेलवे भर्ती बोर्ड (Railway Recruitment Board) जिसे हम RRB कहते हैं, केंद्र सरकार का ऐसा विभाग है जिसमें बड़े पैमाने पर vacancy निकलते रहता है l RRB कई exams आयोजित करता है जैसे - Assistant Loco Pilot (ALP), Group D, Technicians, Railway Protection Force (RPF), Railway Protection Special Force (RPSF), NTPC इत्यादि l इन सभी Sarkari exams results link नीचे दिया गया है l जैसे-


Sarkari Result for RRB ALP in Hindi
Sarkari Result for RRB Group D in Hindi
Sarkari Result for RRB RPF in Hindi
Sarkari Result for RRB NTPC in Hindi
इसके अतिरिक्त अन्य RRB exam result अगर कोई जारी किया जायेगा तो उसका लिंक यहाँ पर अपडेट कर दिया जायेगा l

Institute of Banking Personnel Selection (IBPS) in Hindi

भारत में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों तथा ग्रामीण बैंकों के लिए प्रत्येक वर्ष IBPS कर्मचारी चयन के लिए vacancy निकालता है l IBPS के अतिरिक्त कुछ बैंक निजी तौर पर भी vacancy जारी करता है l यहाँ नीचे आपको IBPS के द्वारा तथा अन्य बैंकों के किसी भी प्रकार के रिजल्ट को देखने का लिंक मिल जायेगा l यह लिंक समय-समय पर ताज़ा सरकारी रिजल्ट के लिए अपडेट किया जाता रहेगा l जैसे-
IBPS PO Result in Hindi
IBPS Clerk Result in Hindi
IBPS SO Result in Hindi
IBPS RRB Office Assistant Result in Hindi
IBPS RRB Officer Scale 1 Result in Hindi
SBI SO Result in Hindi
Indian Bank PO Result in Hindi
Federal Bank PO Result in Hindi

Sarkari Result For Insurance Exams in Hindi

भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) हमारे देश में सबसे बड़ी सरकारी बीमा कम्पनी हैं जिसमें कई तरह के vacancy निकलते रहता है l इसके अतिरिक्त भी कई निजी क्षेत्र के बीमा कम्पनी भी हैं जहाँ से नौकरी हासिल किया जा सकता है l यहाँ आप Life Insurance Corporation of India (LIC) का सरकारी रिजल्ट की जानकारी लेंगे साथ ही अन्य LIC Company के रोजगार रिजल्ट की भी जानकारी समय-समय पर प्राप्त करेंगे l जैसे-

LIC Assistant Administrative Officers (AAO) Result in Hindi
Oriental Insurance Company Limited (OICL) Result in Hindi
New India Assurance Company Limited (NIACL) Assistant Result in Hindi

Sarkari Result For State Government Exams

अगर हम बात राज्य सरकार की करे तो यहाँ पर सरकारी नौकरियों और रिजल्ट्स की भरमार हो जाएगी l क्योंकि हमारे देश में सभी राज्य सरकार अपना vacancy निकालती रहती है, लाखों अभ्यर्थी फॉर्म भरते हैं l यहाँ पर हम आपको LATEST SARKARI RESULTS की जानकारी अपडेट करते रहेंगे l अलग-अलग राज्यों के अलग-अलग सरकारी नौकरियों और उनके रिजल्ट्स की जानकारी आप यहाँ से सीधे तौर पर प्राप्त कर सकते हैं l जैसे-

NTA NEET 2019 Result
Bihar ITI CAT Result 2019
Uttar Pradesh Combined Agriculture and Technology Entrance Test (UPCATET) Result 2019
Bihar LRC Amin Result 2019
UP Police Sub Inspector Recruitment 2016 Result 2019
Jawahar Navodaya Vidyalaya (JNV) Class 6 exam result 2019
UP B.ED EXAM RESULT 2019
DTE GOA GCET Result 2019 Declared in PDF. Download 2019 GCET Result Here. Sarkari Result.
AP POLYCET Result 2019
UPPSC Prelim Result of P.C.S. / A.C.F. - R.E.O.
Sarkari Result for JEE Main Result 2019
UP DELED RESULT 2019 FIRST SEMESTER
UP BOARD RESULT 2019 CLASS 10th & 12th
CHHATTISGARH PSC (PRELIMS) EXAM 2018 RESULT PDF
सारांश – इस पोस्ट में आपने जाना कि किस प्रकार सरकारी विभागों में रोजगार के अवसर आते हैं और आप यदि फॉर्म भरते हैं तो यहाँ से कैसे डायरेक्ट अपना Sarkari Result Check कर सकते हैं l लोग गूगल में किसी भी तरीके से सर्च करने लगते हैं , जैसे कि - sarkari ruselt, sarkar results, sarkary rijalt, nakri result, sarakariresults, sarkariresultinfo, srkari rslt com, sharkri ruselt, rojgar result इत्यादि l तो आप चाहे कुछ भी सर्च करते हों यहाँ हम समय-समय पर सभी तरह के sarkari job info and result की जानकारी इस पोस्ट में अपडेट करते रहेंगे l इसलिए आपको बिलकुल भी चिंता करने की जरुरत नहीं है l इस पेज को आप बुकमार्क कर लें l

और हाँ, हम आप सभी प्रतियोगियों से कहना चाहेंगे कि सरकारी नौकरी पाना बहुत मुश्किल नहीं तो आसान भी नहीं है l इसलिए, अगर आपको सफलता मिलती है तो बहुत बधाई, लेकिन अगर आप असफल होते हैं तो हिम्मत हारने और दिल छोटा करने की जरुरत नहीं है l जिंदगी में सरकारी नौकरी से आगे भी बहुत कुछ है l इसलिए हमेशा सकारात्मक रहें, सकारात्मक सोचें और जिंदगी में कुछ अलग करने की सोचें l Love Hindi Family आप सभी के उज्जवल भविष्य की कामना करता है l